Connect with us

Ambikapur News

Ambikapur News – इस वर्ष नवरात्रि में मंदिरों में नहीं होगी बलिपूजा, सामूहिक यज्ञ व कन्या भोज, ऑनलाइन होंगे माता के दर्शन

Published

on


Navratra 2020: कोरोना काल में नवरात्रि की तैयारियों को लेकर मंदिर के पुजारियों की कलक्टर ने ली बैठक, मंदिर आने वाले श्रद्धालु की पूरी डिटेल ली जाएगी

अंबिकापुर. कोरोना का असर इस वर्ष नवरात्रि पर्व (Navratri festival) पर भी पड़ रहा है। इसी को देखते हुए कलेक्टर संजीव कुमार झा की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभाकक्ष में नवरात्रि पर्व के आयोजन के संबंध में विभिन्न मंदिरों के पुजारियों एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों की बैठक हुई।

इसमें कोरोना महामारी के संक्रमण की रोकथाम को दृष्टिगत रखते हुए नवरात्रि के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के संबंध में चर्चा कर निर्णय लिया गया कि इस वर्ष मंदिरों में बलिपूजा नहीं की जाएगी, मंदिरों में सामूहिक यज्ञ नहीं होगा केवल पुजारी द्वारा ही यज्ञ किया जाएगा।

मंदिरों में नवरात्रि के अंतिम दिन आयोजित होने वाले कन्या भोजन (Girl banquet) का आयोजन भी नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही किसी प्रकार की सभा, जूलूस (Rally) या भीड़ बढ़ाने वाले कार्यक्रम का आयोजन भी नहीं होगा।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि वर्तमान तकनीक का अधिक से अधिक उपयोग करते हुए मंदिर में देवी दर्शन का आयोजन ऑनलाइन माध्यम से कराएं जाएंगे। इसके लिए फेसबुक के माध्यम से ऑनलाइन आरती एवं देवी दर्शन (Online Devi darshan) को बढ़ावा देने का निर्णय लिया गया।

इसके साथ ही सभी मंदिरों में एक रजिस्टर रखा जाएगा जिसमें मंदिर आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु के नाम, पता, मोबाइल नम्बर तथा मंदिर प्रवेश के समय दर्ज किया जाएगा ताकि कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग आसानी से किया जा सके।

बैठक में सहायक कलेक्टर विश्वदीप, नगर निगम आयुक्त हरेश मण्डावी, एसडीएम अजय त्रिपाठी, महामाया मंदिर, दुर्गा मंदिर, गायत्री मंदिर सहित शहर के प्रमुख मंदिरों के पुजारी उपस्थित थे।

ये भी पढ़े: गाइडलाइन के अनुसार ज्योत जलाने की पूरी जिम्मेदारी मंदिर समिति पर, भक्तों को मंदिर में नहीं मिलेगा प्रवेश

इन चीजों पर भी रहेगा प्रतिबंध
कलेक्टर ने कहा कि नवरात्रि के दौरान मंदिरों में आरती, शंख ध्वनि, घण्टा ध्वनि के साथ ही वाद्ययंत्र बजा सकते हैं लेकिन मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को टीका लगाना, कलेवा बांधना, प्रसाद वितरण, चरणामृत तथा पंचामृत आदि देने पर प्रतिबंध रहेगा।

उन्होंने कहा कि जिन मंदिरों के आस-पास खुले जगह हैं वहां एलईडी टीव्ही लगाकर देवी दर्शन करा सकते हैं जिससे मंदिर में भीड़ कम होगी। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से सुरक्षा की दृष्टि से सभी मंदिरों में सीसीटीव्ही कैमरा जरूर लगाएं। उन्होंने कहा कि अभी से यहां लिए गए निर्णय के बारे में सोशल मीडिया के माध्यम से श्रद्धालुओं को जानकारी दें ताकि नवरात्रि के समय कम से कम लोग मंदिर आएं।

मंदिरों में दान देने के लिए बैंक खाता खोले ताकि जो श्रद्धालु मंदिर में दान (Donation in temple) देना चाहते हैं वे सीधे मंदिर के बैंक खाता में राशि जमा कर सकें। इसके साथ ही मंदिर का व्हाटसएप्प नम्बर भी जारी करें ताकि लोगों को इससे जानकारी प्राप्त हो सके।

एसपी बोले- मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं का कराएं एंटीजन टेस्ट
पुलिस अधीक्षक श्री टीआर कोशिमा ने कहा कि नवरात्रि (Navratri) के अवसर पर प्रदेश के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर प्रबंधन कोरोना एंटीजन टेस्ट कराएं। मंदिर में सोशल डिस्टेंस तथा मास्क लगाना अनिवार्य करें।

उन्होंने कहा कि नवरात्रि के दौरान सभी मंदिरों में पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। महिला पुलिस बल तथा पेट्रोलिंग टीम तैनात रहेंगे। किसी प्रकार की समस्या हो तो तत्काल पुलिस को सूचित करेंगे।











Source link

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 935 other subscribers

Recent Posts

Facebook

Categories

Our Other Site

Trending