Connect with us

Ambikapur News

Ambikapur News – युवक की अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी, शराब मांगने पर इनकार करने के बाद 3 युवकों ने की थी नृशंस हत्या

Published

on


Blind murder: जल संसाधन विभाग में पदस्थ ड्राइवर (Driver) की खेत में मिली थी लाश, प्लान (Planned murder) बनाकर मुख्य आरोपी ने 2 साथियों के साथ वारदात को दिया था अंजाम

अंबिकापुर. दरिमा थाना अंतर्गत ग्राम कुम्हरता में हुई युवक के अंधे कत्ल (Blind murder) की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

शराब पीने के दौरान हुए विवाद में एक आरोपी ने अपने 2 अन्य साथियों के साथ योजना बनाकर युवक को मौत के घाट उतार दिया गया था। युवक जल संसाधन विभाग (Water resource department) में ड्राइवर के पद पर पदस्थ था।

ये भी पढ़े: मां के साथ आपत्तिजनक हालत में देख प्रेमी की बेटे ने बहनोई के साथ मिलकर की नृशंस हत्या, बोरे में भरकर फेंकी लाश

गौरतलब है कि दरिमा क्षेत्र के ग्राम कुम्हरता निवासी 40 वर्षीय सुदेश्वर सिंह पिता एतवार सिंह जल संसाधन विभाग में ड्राइवर था। 7 अक्टूबर की शाम 4 बजे अपने घर से स्कूटी लेकर गांव में घूमने निकला था। अगले दिन 8 अक्टूबर को उसकी लाश गांव में ही सडक़ किनारे खेत में मिली थी, तथा स्कूटी सडक़ पर पड़ी थी।

हत्या के इस मामले में पुलिस ने जांच करते हुए 3 आरोपियों ग्राम खजुरी निवासी 26 वर्षीय सुशील प्रधान पिता रामेश्वर प्रधान, पंपापुर निवासी 26 वर्षीय कामेश्वर पिता होरो व 44 वर्षीय बासु खम्हारी को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि घटना दिनांक को तीनों आरोपी व मृतक साथ में बैठकर शराब पी (Drink alcohal) रहे थे। इसी दौरान सुशील प्रधान ने मृतक से और शराब मांगी तो उसने इंकार कर दिया। इससे सुशील नाराज हो गया व दोनों के बीच विवाद हो गया। इस दौरान सुशील मृतक को धमकी देकर चला गया।

ये भी पढ़े: शादीशुदा बेटी से था अवैध संबंध तो पिता ने प्रेमी की हत्या के बाद बोरे में बांधकर फेंकी लाश, 5 गिरफ्तार

प्लान बनाकर की हत्या
विवाद के बाद सुशील प्रधान ने कामेश्वर व बासु के साथ मिलकर सुदेश्वर की हत्या (Murder) करने का प्लान बनाया। फिर योजना के तहत सुशील व कामेश्वर घटनास्थल के पास ही छिप गए। जब मृतक शराब पीकर वापस स्कूटी से घर जाने निकला तो बासु ने फोन कर सुशील को इसकी जानकारी दी।

इसके बाद सुशील व कामेश्वर ने मृतक का रास्ता रोक कर उस पर लाठी से प्राणघातक हमला कर दिया, इससे उसकी मौत हो गई। कार्रवाई में निरीक्षक सलीम तिग्गा, हरिशंकर सिंह, संतोष गुप्ता, बलबीर मिंज शामिल रहे।
















Source link

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 27 other subscribers

Recent Posts

Facebook

Categories

Our Other Site

Trending