Connect with us

Jashpur News

Jashpur News – बंजर भूमि को 5 किसानों ने अपनी मेहनत से फलदार पौधे लगाकर बनाया हरा-भरा

Published

on


Publish Date: | Tue, 29 Sep 2020 11:37 PM (IST)

जशपुरनगर ( MyBagichaन्यूज)। पत्थलगांव विकासखंड में ग्राम सुरेशपुर एक आदिवासी बाहुल्य गांव है। यहां के ग्रामीण किसान मदनलाल (46) खेती करके अपने परिवार का जीवन यापन करते हैे, उनकी अपनी लगभग ढाई हेक्टेयर की पड़ती(बंजर) कृषि भूमि पर कुछ भी उगा नहीं पा रहे थे। उन्होंने पंचायत कार्यालय जाकर ग्राम रोजगार सहायक ज्ञानेश कुमार डनसेना से इस संबंध में बातचीत की

रोजगार सहायक डनसेना ने उन्हें उद्यानिकी विभाग के माध्यम से सामुदायिक फलोद्यान लगाने और उनके बीच अंतरवर्ती खेती के रुप में सब्जियों के उत्पादन का उपाय बताया। मदनलाल ने पंचायत की सलाह पर तुरंत अपनी कृषि भूमि से लगते अन्य कृषकों बुधकुंवर, मोहन, मनबहाल और हेमलता से संपर्क किया एवं उन्हें मिलकर सामुदायिक फलोद्यान से होने वाले फायदे के बारे में बताया। चूँकि इन चारों किसानों की आधे से लेकर एक हेक्टेयर तक की कृषि भूमि मदनलाल की कृषि भूमि से लगती थी और लगभग सभी की यह भूमि पड़ती होने के कारण अनुपयोगी थी। इसलिए सभी ने इसके लिए अपनी सहमति दे दी। आखिरकार श्री मदनलाल की मेहनत रंग लाई और ग्राम सभा के प्रस्ताव के आधार पर 9.48 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति के साथ सामुदायिक फलोद्यान रोपण का मार्ग प्रशस्त हो गया। उद्यानिकी विभाग ने की योजना का लाभ लेकर मदनलाल सहित पाँचों किसानों की कृषि भूमि को मिलाकर 4.600 हेक्टेयर भूमि के एक चक पर आम का सामुदायिक फलोद्यान रोपण का कार्य मनरेगा से कराया गया। उस समय 7 लाख 97 हजार रुपयों की लागत से आम की दशहरी प्रजाति के 1300 पौधे रोपे गए थे। जिले के उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक राम अवध सिंह भदौरिया बताते हैं कि इस आम्र फलोद्यान से इन्हें पिछले 3 सालों में आमों की बिक्री से लगभग 5 लाख 70 हजार रुपये से अधिक की आमदनी हुई है। वहीं दूसरी ओर अंतरवर्ती फसल के रुप में इन्होंने बरबट्टी, भिण्डी, करेला, मिर्च, टमाटर, प्याज और आलू की सब्जियों का उत्पादन लिया है। इन सब्जियों को स्थानीय और पत्थलगांव के बाजारों में बेचकर इन्होंने लगभग साढ़े 3 लाख रुपए की अतिरिक्त कमाई भी की है। पाँचों किसानों में मदनलाल काफी सक्रिय हैं। वे फलोद्यान में अपने हिस्से की भूमि के साथ-साथ बाकी चारों किसानों की भूमि पर रोपे गए पेड़ों की शुरु से देखभाल करते आए हैं। फलोद्यान से प्राप्त हुए फायदों के बारे में लाभार्थी मदनलाल ने बताया कि इस आम के बगीचे में उद्यानिकी विभाग ने हमारी बहुत मदद की है। विभाग ने यहाँ राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना से ड्रिप इरिगेशन सिस्टम, सब्जी क्षेत्र विस्तार (प्याज), पैक हाउस, मल्चिंग शीट और वर्मी कम्पोस्ट यूनिट के रुप में विभागीय अनुदान सहायता उपलब्ध कराई हैं। हमारी परस्पर एकजुटता और योजनाओं के तालमेल से विकसित हुए इस फलोद्यान से तीन ही सालों में ही हमारी आर्थिक स्थिति अच्छी हुई है। आमों की अच्छी क्वालिटी होने से पत्थलगांव विकासखण्ड के फल व्यापारी सीधे खेत पर पहुंचकर हमसे इनकी थोक में खरीदी कर रहे हैं। आम के उत्पादन से अब तक 5 लाख रुपए से अधिक की आमदनी इन्हें हो चुकी है। वहीं सब्जियों की अंतरवर्ती खेती करते हुए वे अतिरिक्त लाभ भी अर्जित कर रहे हैं। अब वे अपने गाँव में फल उत्पादक के रुप में भी पहचाने जाने लगे हैं।

—————-

Posted By: MyBagichaNews Network

MyBagichaई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

MyBagichaई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें MyBagichaऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ MyBagichaई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें MyBagichaऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ MyBagichaई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020

 



Source link

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 935 other subscribers

Recent Posts

Facebook

Categories

Our Other Site

Trending