Connect with us

Raipur News

News – छत्तीसगढ़ आदिवासी युवतियों के ‘सुई-धागा’ की धमक पहुंची अमरीका

Published

on


– प्रवासी भारतीयों की संस्था नाचा ने पुरस्कार के लिए सुई धागा को किया नामांकित
– कोंडागांव जिले के चौडंग गांव में 28 आदिवासी युवतियां चला रही है सुईधागा समूह
– चयन के लिए एनआरआई अमरीकी करवा रहे ऑनलाइन वोटिंग

कोंडागांव/रमाकांत सिन्हा. अबूझमाड़ से लगे कोंडागांव जिले धुर माओवाद प्रभावित क्षेत्र में स्थित ग्राम चौडंग के आदिवासी युवतियों के समूह ‘सुईधागा’ की ख्याति अमरीका तक पहुंच गई है। इनका काम देखकर अमरीका में रह रहे अप्रवासी भारतीयों की संस्था ‘नाचा’ (नॉर्थ अमरीका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन) ने जिसमें छत्तीसगढ़़वासी ही प्रमुख हैं।

कीमतें बढ़ी तो 80 फीसदी ग्राहकों ने प्याज से मुंह मोड़ा, इसलिए 65 रुपए वाला प्याज थोक में 50 रुपए

संस्था ने इस बार सुई धागा समूह को नामांकित किया है इसके लिए ऑनलाइन वोटिंग होगी। सबसे ज्यादा वोट मिलने वाली संस्था को यह सम्मान प्रदान किया जाएगा। चयनित होने वालों के नामों की घोषणा 1 नवम्बर को होगी। यू-ट्यूब में अमरीका के स्थानीय समयानुसार रात 8 बजे व भारतीय समयानुसार 2 नवंबर की सुबह 6 बजे से 8 बजे तक इसका लाइव प्रसारण होगा और पुरस्कारों की घोषणा की जाएगी।

नवा उजर ने बदली युवतियों की तकदीर
कोंडागांव जिला मुख्यालय से लगभग 25 किमी दूर ग्राम चौडंग में ग्राम पंचायत ने स्वरोजगार के लिए नवा उजर कार्यक्रम शुरू किया जिसके माध्यम से 10 युवतियों की एक टीम गठित कर सुईधागा का नाम दिया गया। ग्राम पंचायत के सचिव विश्वनाथ ने बताया कि ग्राम पंचायत की सरपंच मंगतिन बाई ने स्थानीय प्रतिनिधियों के द्वारा दिए गए चंदे की मदद से टीम सुईधागा के लिए 10 नग सिलाई मशीन खरीदी। फिर इन युवतियों को प्रशिक्षित कर गांव में सिलाई का कार्य शुरू किया गया। डेढ़ वर्ष पूर्व प्रारंभ इस समूह में अब 28 स्थानीय आदिवासी युवतियां जुड़ चुकी हैं।

प्याज की बढ़ती कीमतों पर रोक लगाने के लिए राज्य सरकार ने सख्त कदम उठाए, तय किया स्टॉक लिमिट

लॉकडाउन में कोरोना वॉरियर्स के रूप में कर रहीं काम
सरपंच मंगतिन बाई ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान टीम सुई धागा ने कोरोना वारियर्स के रूप में बहुत अच्छा काम किया है। बेरोजगारी से जूझ रही युवतियों व महिलाओं के लिए सिलाई, कढ़ाई, बुनाई, कुकिंग, पेंटिग और शिल्प आदि का न सिर्फ प्रशिक्षण दिया। इसके साथ-साथ गांव में सफाई और सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क के प्रयोग हेतु प्रेरित किया। जरूरतमंदों को नि:शुल्क मास्क का भी वितरण किया।

राहत की खबर: बीते 21 दिनों में हर दिन कमजोर पड़ता गया कोरोना वायरस

2 नवम्बर को सुबह 6 से 8 बजे तक यू-टयूब लाइव प्रसारण
पंचायत सचिव विश्वनाथ ने कुछ सोशल मीडिया पर टीम सुईधागा के फोटो व कहानी शेयर की, जिसे देखते ही उत्तर नाचा की टीम के कुछ सदस्यों ने विश्वनाथ से सम्पर्क किया। जिसके बाद टीम सुई धागा की सदस्य राधा नाग ने नामांकन भेजा। विश्वनाथ ने बताया की नाचा इस पर ऑनलाइन वोटिंग करवा रही है। इस बार यह पूरा आयोजन वर्चुवल होगा।










Source link

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 942 other subscribers

Recent Posts

Facebook

Categories

Our Other Site

Trending