Connect with us

Raipur News

News – मां दंतेश्वरी के नाम से जाना जाएगा जगदलपुर एयरपोर्ट, ब्रिटिश काल में रखी गई थी इसकी की नींव

Published

on


जगदलपुर के इस हवाईअड्डा का इतिहास ब्रिटिश काल के समय का है। जगदलपुर एयरपोर्ट की नींव वर्ष 1939 में द्वितीय विश्व युद्व के पूर्व ब्रिटिश काल में रखी गई थी, तब इसे जहाज भाटा के नाम से जाना जाता था।

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने आज यहां अपने निवास कार्यालय से बस्तर जगदलपुर से रायपुर एवं हैदराबाद की हवाई यात्रा के लिए 72 सीटर नियमित विमान सेवा का वर्चुअल शुभारंभ किया। जगदलपुर स्थित मां दंतेश्वरी एयरपोर्ट से अब बस्तरवासियों को हवाई मार्ग से रायपुर एवं हैदराबाद आवागमन की सुविधा का लाभ मिलेगा।

जगदलपुर के इस हवाईअड्डा का इतिहास ब्रिटिश काल के समय का है। जगदलपुर एयरपोर्ट (Jagdalpur Airport) की नींव वर्ष 1939 में द्वितीय विश्व युद्व (Second World War) के पूर्व ब्रिटिश काल में रखी गई थी, तब इसे जहाज भाटा के नाम से जाना जाता था। 13 मार्च 1953 को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने भी बस्तर के इस जहाज भाटा में अपना कदम रखा था।

इसके अतिरिक्त पूर्व राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद, डॉ एपीजे अब्दुल कलाम, डॉ प्रतिभा पाटिल एवं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, मोरारजी देसाई, वीपी सिंह, अटल बिहारी बाजपेयी जैसी महान विभूतियां भी इस पावन धरा में कदम रख चुकी हैं। 20 मार्च 1988 को जगदलपुर से भोपाल के बीच वायुदूत सेवा के नाम से उड़ान की शुरूआत तत्कालीन मुख्यमंत्री मोतीलाल वोरा ने की थी। वोरा, अपने मंत्रीमंडल के सदस्यों के साथ प्रथम यात्रा भोपाल से जगदलपुर के लिए की थी। जगदलपुर एयरपोर्ट का उपयोग सामरिक कार्यों के लिए किया जाता रहा है।

मां दंतेश्वरी के नाम से जाना जाएगा जगदलपुर एयरपोर्ट
छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जगदलपुर एयरपोर्ट का नामकरण अंचल की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के नाम से किया गया है। मां दंतेश्वरी एयरपोर्ट जगदलपुर कुल 57.6 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में स्थापित है। एयर स्ट्रिप की लम्बाई 1704 मीटर और चौड़ाई 30 मीटर है। एयरपोर्ट के आधारभूत सुविधाओं का प्रबंधन लोक निर्माण विभाग, छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा किया जा रहा है।

एयरपोर्ट में एयर ट्रैफिक कंट्रोल का प्रबंधन एयरपोर्ट एथॉरिटी आफ इंडिया द्वारा किया जाएगा। एयरपोर्ट में 72 सीटर यात्री क्षमता वाली हवाई जहाज को संचालित किया जा रहा है। यात्री विमान सुबह 9 बजे हैदराबाद से उड़ान भरकर जगदलपुर होते हुए दोपहर 12 बजे तक रायपुर पहुंचेगा। वापस हैदराबाद के लिए यह विमान रायपुर से 12.30 बजे उड़ान भरकर 1.35 बजे जगदलपुर पहंुचेगा और वहां से 2.05 बजे उड़ान भरकर 3.40 बजे हैदराबाद पहुंचेगा।

बस्तर से हवाई सेवा की शुरुआत करने के मौके पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि बस्तर के लोगों की सुविधा के लिए विमानों की उड़ान प्रतिदिन किया जाना सुनिश्चित किया गया है। टिकट की बुकिंग एलायंस एयर के वेबसाइट, ऐप एवं टिकट काउंटर के माध्यम से किया जा सकता है। यात्री किराया भी न्यूनतम रखा गया है, जिसे आसानी से वहन किया जा सकता है।

हैदराबाद से जगदलपुर का 1405 रुपए जगदलपुर से रायपुर का टिकट 1270 रुपए मात्र है। आम नागरिक कम खर्चे में आसानी से हवाई यात्रा का लाभ ले सकते हैं। हमारी सरकार प्रांरभ से ही बस्तर के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित रही है। हम बस्तर की पहचान अंतराष्ट्रीय स्तर पर स्थापित करने के लिए बहुआयामी प्रयास कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर एयरपोर्ट जगदलपुर में आमचों बस्तर कैंटीन का भी शुभारंभ किया। जिला प्रशासन जगदलपुर के सौजन्य से जगदलपुर से रायपुर पहली बार हवाई यात्रा कर रहे बस्तर अंचल के विभिन्न क्षेत्रों के रहवासियों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को जगदलपुर से विमान सेवा शुरू करने और उन्हें हवाई यात्रा का सुअवसर प्रदान करने के लिए आभार जताया।



















Source link

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 935 other subscribers

Recent Posts

Facebook

Categories

Our Other Site

Trending