December Month Jubilee, Day, Festival & Fast दिसंबर महीना जयंती, दिवस, त्यौहार, मुहूर्त और व्रत

Here, we will give you all the information about all the Jubilee Day (जयंती, दिवस) festivals and fasts (त्यौहार,और- व्रत) …

Read moreDecember Month Jubilee, Day, Festival & Fast दिसंबर महीना जयंती, दिवस, त्यौहार, मुहूर्त और व्रत

January Month Jubilee, Day, Festival & Fast जनवरी महीना जयंती, दिवस, त्यौहार, मुहूर्त और व्रत

Here, we will give you all the information about all the Jubilee Day (जयंती, दिवस) festivals and fasts (त्यौहार,और- व्रत) …

Read moreJanuary Month Jubilee, Day, Festival & Fast जनवरी महीना जयंती, दिवस, त्यौहार, मुहूर्त और व्रत

Do Bailo ki katha– Munsi Premchand ki Kahani (दो बैलों की कथा – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

जानवरों में गधा सबसे ज्यादा बुद्धिमान समझा जाता है। हम जब किसी आदमी को पहले दर्जे का बेवकूफ कहना चाहते …

Read moreDo Bailo ki katha– Munsi Premchand ki Kahani (दो बैलों की कथा – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

Dil ki Rani– Munsi Premchand ki Kahani (दिल की रानी – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

दिल की रानी जिस वीर तुर्कों के प्रखर प्रताप से ईसाई दुनिया कौप रही थी , उन्‍हीं का रक्‍त आज …

Read moreDil ki Rani– Munsi Premchand ki Kahani (दिल की रानी – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

Devi 2 – Munsi Premchand ki Kahani (देवी 2 – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

देवी – एक लघु कथा प्रेमचन्द जी ने देवी नाम से दो कहानियाँ लिखी हैं। दूसरी कहानी पढ़ने के लिए …

Read moreDevi 2 – Munsi Premchand ki Kahani (देवी 2 – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

Devi – Munsi Premchand ki Kahani (देवी – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

देवी बूढ़ों में जो एक तरह की बच्चों की-सी बेशर्मी आ जाती है वह इस वक्त भी तुलिया में न …

Read moreDevi – Munsi Premchand ki Kahani (देवी – मुंशी प्रेमचंद की कहानी)

Durga Ka Mandir – Munsi Premchand ki Kahani (दुर्गा का मन्दिर – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

दुर्गा का मन्दिर बाबू ब्रजनाथ कानून पढ़ने में मग्न थे, और उनके दोनों बच्चे लड़ाई करने में। श्यामा चिल्लाती, कि …

Read moreDurga Ka Mandir – Munsi Premchand ki Kahani (दुर्गा का मन्दिर – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

Dand – Munsi Premchand ki Kahani (दण्ड – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

दण्ड संध्या का समय था। कचहरी उठ गयी थी। अहलकार चपरासी जेबें खनखनाते घर जा रहे थे। मेहतर कूड़े टटोल …

Read moreDand – Munsi Premchand ki Kahani (दण्ड – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

Sacchai Ka Uphar – Munsi Premchand ki Kahani (सच्चाई का उपहार – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

तहसीली मदरसा बराँव के प्रथमाध्यापक मुंशी भवानीसहाय को बागवानी का कुछ व्यसन था। क्यारियों में भाँति-भाँति के फूल और पत्तियाँ …

Read moreSacchai Ka Uphar – Munsi Premchand ki Kahani (सच्चाई का उपहार – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

Narak Ka Marg – Munsi Premchand ki Kahani (नरक का मार्ग – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)

नरक का मार्ग – मुंसी प्रेमचंद की कहानी Path to Hell – Story of Munsi Premchand रात “भक्तमाल” पढ़ते-पढ़ते न …

Read moreNarak Ka Marg – Munsi Premchand ki Kahani (नरक का मार्ग – मुंसी प्रेमचंद की कहानी)